Ads Top

सर्दियों में/ठण्ड में सुन्दर दिखने के नुस्खे



ठण्ड/सर्दी में त्वचा को अतिरिक्त देखभाल की ज़रुरत होती है। इस मौसम में त्वचा काफी सूख जाती है। ऐसे समय में आपको त्वचा का अच्छे से उपचार करना चाहिए जिससे कि वह दमकती हुई और मुलायम रहे। ठण्ड में त्वचा की देखभाल करने हेतु कुछ आवश्यक नुस्खे नीचे दिए जा रहे हैं।
सर्दी/ठण्ड के मौसम में महिलाओं को त्वचा से सम्बंधित एवं मेकअप से सम्बंधित कई समस्याएं पेश आती हैं। इन समस्याओं में प्रमुख है त्वचा का सूखना और फटना। सर्दी/ठण्ड में सौंदर्य सम्बन्धी समस्याएं भी काफी होती हैं जैसे सूखे बाल,फटे होंठ,फटी एड़ियां एवं बालों की अन्य समस्याएं। इस लेख में आप ठण्ड में होने वाली सौंदर्य एवं त्वचा सम्बन्धी समस्याओं के निदान का तरीका जान पाएंगी।
सर्दी/ठण्ड के मौसम में भी सब लोग अपने होंठों, त्वचा, बाल तथा पैरों की पूरी देखभाल करना चाहते हैं।ठण्ड का समय ऐसा होता है जब आप अच्छे से खाते हैं, अच्छे से सोते हैं तथा आपका स्वास्थ्य भी काफी अच्छा हो जाता है। फिर भी मौसम की मार से आपकी त्वचा और अन्य भागों पर प्रतिकूल असर पड़ता है। इनसे बचने के कुछ उपाय नीचे दिए जा रहे हैं।

सर्दियों में त्वचा सम्बन्धी नुस्खे (Skin care tips for Winter)

  • सर्दी/ठण्ड में त्वचा सूखी हो जाती है। मौसम में हुए भारी बदलाव को त्वचा सहन नहीं कर पाती एवं सूखने लगती है।त्वचा पर प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र लगाएं जो आपकी स्किन टोन को बरकरार रखे।
  • सर्दी/ठण्ड में गर्म पानी से ना नहाएं। गर्म पानी त्वचा की नमी छीन लेता है और त्वचा को रूखी बना देता है।
  • सर्दी/ठण्ड में बिलकुल ना नहाने या काफी कम समय तक नहाने से भी त्वचा सूख जाती है।
  • ठण्ड में त्वचा में आए भारी सूखेपन से त्वचा फटने भी लगती है। इसके निदान हेतु नहाने के बाद पूरे शरीर में नारियल या बादाम के तेल की मालिश करें।
  • फटी त्वचा पर पेट्रोलियम जेली लगाएं।
  • ठण्ड में अपनी त्वचा को ठंडी हवाओं से बचाकर रखें।
  • सोने जाने से पहले अपने पूरे चेहरे पर बादाम का तेल मलें।

सर्दियों में होंठों की देखभाल के नुस्खे (Lip care tips for Winter)

  • सर्दी/ठण्ड में होंठ ज़्यादा फटते हैं क्योंकि होंठों की त्वचा काफी संवेदनशील होती है। होंठों से नमी गायब हो जाने की वजह से ही वे फटना शुरू कर देते हैं।
  • सर्दी/ठण्ड में होंठों पर लिप केयर बाम लगाएं।
  • होंठों की मृत कोशिकाएं निकालने के लिए लिप स्क्रब का प्रयोग करें।
  • सूखने पर अपने होंठों को चाटें। चाटने से कुछ समय के लिए तो त्वचा को नमी मिलती है परन्तु बाद में यह होंठों के लिए हानिकारक हो जाता है एवं इससे होंठ और ज़्यादा सूखकर फटने लगते हैं।
  • शरीर में नमी की कमी ना होने दें एवं खूब पानी पियें।

सर्दियों में पैरों की देखभाल के नुस्खे (Foot care tips for winter )

  • फटी एड़ियां आपकी सुंदरता छीन लेती हैं। ठण्ड में त्वचा के सूखने की वजह से ही एड़ियां फटती हैं।
  • पानी एवं नींबू के रस के मिश्रण में ३० मिनट तक पैरों को डुबोकर रखें। इसके बाद पत्थर से पैरों को घिसें।
  • उपरोक्त प्रक्रिया पैरों की मृत कोशिकाओं को हटा देती है।
  • फटी एड़ियों में पेट्रोलियम जेली लगाएं।
  • ठण्ड में हमेशा मोज़े पहनकर रहे।

सर्दियों में बालों की सुरक्षा के नुस्खे (Tips to take care of hair in winter)

  • ठण्ड के मौसम में सर्द हवाओं के चलने एवं तापमान में परिवर्तन की वजह से बालों को काफी नुकसान पहुंचता है।
  • ठण्ड में बालों को ज़्यादा ना भिगोएं क्योंकि इससे आपके बालों में सूखापन आ सकता है।
  • बाल धोने के बाद अपने बालों में तौलिया बांध लें। इससे नमी बालों के अंदर ही रहती है और बाहर नहीं जाती।
  • ठण्ड में बाल सुखाने के लिए ब्लोअर या ड्रायर का प्रयोग ना करें।
  • ठण्ड में बालों की मसाज करें एवं इसके लिए प्राकृतिक तेलों का प्रयोग करें।

सर्दियों में ठण्ड में गुनगुने पानी से नहाएं (Hot water bath in winter)

अगर आप सर्दियों में त्वचा को आराम दिलाना चाहते हैं तो रोज़ाना गुनगुने पानी से नहाएं। पानी की गर्म अवस्था त्वचा को स्वस्थ रखने में काफी मदद करती है। आप नहाने के समय मॉइस्चराइसिंग साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस तरह का साबुन त्वचा को मुलायम बनाए रखने में मदद करता है। ठण्ड में गर्म पानी से नहाने पर शरीर के तंतुओं(cells)में भी नयी जान आती है और आपको सुकून का अनुभव होता है।

सर्दियों में ठण्ड में एक्सफोलिएशन (Exfoliation is necessary in winter)

ठण्ड में यह काफी आवश्यक है कि आप अपनी त्वचा के सूखे सेल्स को एक्सफोलिएट करें। अंदरूनी और बाहरी तापमान में काफी अंतर होता है और इससे आपकी त्वचा की गुणवत्ता में भी काफी फर्क पड़ता है। अतः जब आप नहाने जाएं तो किसी एक्सफ़ोलिएटिंग माध्यम का प्रयोग करें जो कि त्वचा की मृत कोशिकाओं को सही प्रकार से निकालने में आपकी मदद करे। इससे आपकी त्वचा की गुणवत्ता में काफी निखार आएगा। ध्यान रखें कि एक्सफोलिएशन के लिए प्रयोग में लाया जाने वाला पदार्थ त्वचा के लिए काफी अच्छा हो।

सर्दियों में ठण्ड में त्वचा को मॉइस्चराइस करें (Moisturizing the skin in winter)

ठण्ड में यह काफी आवश्यक है कि आप रोज़ाना त्वचा को मॉइस्चराइस करें। इसे आप एक प्रभावी मॉइस्चराइज़र का सही प्रकार से प्रयोग कर सकते हैं जिससे कि आपकी त्वचा नरम मुलायम हो जाए। त्वचा के खुले भागों पर ज़्यादा ध्यान दें। हाथों, नाखूनों तथा होंठों का ख़ास ख्याल रखें। इसके लिए आवश्यक है कि आप रसोई या बाज़ार में मिलने वाले बेहतरीन मॉइस्चराइसिंग उत्पादों का फायदा उठाएं। होंठों की नरमी बनाए रखने के लिए लिप बाम का प्रयोग करें। आप नाखूनों पर भी क्रीम लगा सकते हैं जिससे कि वे मुलायम और स्वस्थ रहें।

सर्दियों में लिए सनस्क्रीन लोशन (sunscreen lotion for winter)

लोगों की यह धारणा गलत है कि सनस्क्रीन लोशन सिर्फ गर्मियों में ही लगाया जाता है। आपको सर्दियों में भी सनस्क्रीन लोशन का प्रयोग करना चाहिए। यह समय भी ऐसा होता है जब आपको सूरज की किरणों से सुरक्षा की आवश्यकता होती है। अतः ठण्ड में भी घर से बाहर निकलते समय सनस्क्रीन लोशन लगाना सुनिश्चित करें। इस लोशन से त्वचा के बाहरी परत की सुरक्षा होती है तथा इससे आपको सुकून का अनुभव होता है।

सर्दियों में डिओड्रेंट का प्रयोग न करें (Deodorant is not right in winter)

ठण्ड में आपके शरीर से ज़्यादा पसीना नहीं निकलता, अतः यही सही रहेगा कि आप डिओड्रेंट का प्रयोग कम से कम रखें। डिओड्रेंट में अल्कोहल की मात्रा होती है, अतः यह त्वचा के लिए अच्छा नहीं होता। अल्कोहल त्वचा की नमी छीन लेता है और इस वजह से त्वचा रूखी और बेजान हो जाती है। अतः अल्कोहल युक्त पदार्थों का ज़्यादा इस्तेमाल ना करें। ठण्ड में त्वचा प्राकृतिक रूप से ही ज़्यादा संवेदनशील होती है और इसीलिए ऐसे उत्पादों का इस्तेमाल ना करें जो त्वचा को आर ज़्यादा नुकसान पहुंचाएं।

कंडीशनर का प्रयोग (Make use of conditioners)

ठण्ड में कंडीशनर का प्रयोग अवश्य करें। इस मौसम में आपका पसीना ज़्यादा नहीं निकलता है और आपके सिर की त्वचा अत्यंत रूखी सी हो जाती है। लेकिन बालों की सही देखभाल करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि किसी सौम्य शैम्पू का प्रयोग करें और बालों और त्वचा को त्वचा को धोने के लिए गुनगुने पानी का प्रयोग करें। पानी के तापमान की अवश्य जांच कर लें। यह ज़्यादा गर्म नहीं होना चाहिए वरना इससे त्वचा और बालों की गुणवत्ता को काफी नुकसान पहुँच सकता है।

बालों में रोज़ाना तेल लगाएं (Regular oiling of the hair is required)

ठण्ड में बालों की रोज़ाना ऑइलिंग करना बहुत ज़्यादा आवश्यक है। शरीर के बाकी भागों की तरह आपके बाल को भी सही देखभाल की आवश्यकता होती है, और इसीलिए आपको चाहिए कि अपने लिए सही प्रकार के तेल का चुनाव करें।सिर में तेल लगाने से रक्त संचार अच्छे से होता है तथा सिर की त्वचा पूरी तरह नमी युक्त रहती है। ठण्ड में आप बेहतरीन तेलों का चयन कर सकते हैं। इनमें मुख्य हैं नारियल तेल, बादाम का तेल, अरंडी(castor)का तेल, लैवेंडर तेल, ओलिव आयल आदि।

सर्दियों में शरीर को ढककर रखें (Covering the Body in Winter is Important)

ठण्ड में यह काफी आवश्यक है कि आप अपने शरीर को ढककर रखें। इसके लिए आप ऊनी टोपी, स्टोल (stoles) या स्कार्व्स (scarves) का प्रयोग कर सकते हैं। गर्म कपड़े आपकी त्वचा की रक्षा करते हैं तथा आपके बालों को भी काफी अच्छी स्थिति में रखते हैं। इस तरह आप ठण्ड के प्रकोप से काफी प्रभावी रूप से बचे रहते हैं। अगर आप अपनी त्वचा को खुला छोड़े रखेंगे, तो इससे आपके चेहरे तथा बालों को काफी नुकसान पहुंचता है। इसके अलावा सही तरह से शरीर को ढककर रखने से आपकी त्वचा गर्म और आरामदायक रहती है। इससे आपके शरीर में रक्त का संचार सही तरीके से होता है, जो ठण्ड के मौसम में काफी आवश्यक है।

सर्दियों में बाल बनाने में सावधानी बरतें (You Should Style Your Hair Carefully in Winter)

ठण्ड में स्टाइलिंग (styling) के लिए बालों में अत्याधिक ताप का संचार करना हानिकारक हो सकता है। अतिरिक्त ताप के प्रयोग से बालों की गुणवत्ता खराब हो जाती है तथा वे अत्याधिक रूखे हो जाते हैं। यही कारण है कि बालों को किसी भी प्रकार के नुकसान से बचाने के लिए आपको काफी सावधानी से उनकी स्टाइलिंग करनी पड़ेगी। असल में आप इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए किसी विशेषज्ञ की भी सलाह ले सकते हैं। वाही आपको ठण्ड में बालों की सही प्रकार से styling करने का उचित तरीका बताने में सक्षम हैं।

सैलिसिलिक एसिड (Salicylic acid)

लोगों को अभी भी अपने शरीर के ऐसे कई भागों के बारे में आभास नहीं है, जहां उनकी जानकारी के बगैर ही रूखेपन की समस्या जन्म ले लेती है। उदाहरण के तौर पर हाथों के ऊपरी भाग (upper arm) में केराटोसिस पिलर (keratosis pillar) के सूजने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इससे रूखी त्वचा की समस्या उत्पन्न होती है, जो आपको काफी परेशान करती है। विशेषज्ञ ऐसी स्थिति में ऐसे लोशन (lotion) लगाने की सलाह देते हैं, जिनमें सैलिसिलिक एसिड होता है। यह आपके बालों के फोलिकल्स (hair follicles) के आसपास की मृत त्वचा को एक्सफोलिएट करता है। इस लोशन को लगाकर आप शरीर की सूजन भी कम कर सकते हैं।

सूती के दस्तानों का प्रयोग करें (Use cotton gloves)


एक बार जब आप अपनी त्वचा तथा हाथों पर मॉइस्चराइज़र (moisturizer) लगा लें, तो इसके बाद अपने हाथों पर सूती के दस्ताने पहन लें। अगर आप अपने हाथों को दस्तानों से नहीं ढकेंगे तो ठंडी हवा आपकी त्वचा पर हमला कर सकती है और रूखापन तथा त्वचा के फटने जैसी समस्याएं भी पेश आ सकती हैं। आप एक सुरक्षा परत बनाने के लिए हाथों पर विंटर क्रीम (winter cream) तथा मॉइस्चराइज़र लगाकर इन्हें सूती के दस्तानों से ढक सकते हैं। क्षतिग्रस्त हाथों को मोइस्चराइस (moisturize) करने का यह बेहतरीन उपाय है। इससे आपके हाथ नर्म और सुन्दर रहेंगे।

रूखी कोहनियों के लिए शहद (Honey for dry elbows)

ठण्ड में आपने अपनी कोहनियों के आसपास काले धब्बे और फटी त्वचा ज़रूर देखी होगी। ऐसा इस मौसम में विपरीत दिशा से आने वाली हवा के आपकी त्वचा पर हमला करने की वजह से होता है। इसके लिए आप शहद के रूप में एक काफी सामान्य उपाय अपना सकते हैं। अपने हाथों में शहद की कुछ बूँदें लें तथा तथा हलके हाथों से इसे अपनी कोहनियों के ऊपर लगाएं। इसे सूखने दें तथा इसके बाद इसे हलके गर्म पानी से धो लें। इससे आपकी त्वचा सुरक्षित रहेगी और रक्त संचार भी सुचारू रूप से होगा।

1 comment:

Popular Posts

Powered by Blogger.